Breaking

Thursday, November 14, 2019

बील भरने के बाद भी अंधेरे में रहने को मजबुर ग्रामीण जीव जंतुओं का बना रहता है भय

पेटलावद से अर्जुन ठाकुर के साथ राज मेड़ा की रिपोर्ट:-

पेटलावद( चारणपुरा ) :- वर्षो का वनवास काटने के बाद कांग्रेस ने सत्ता हासिल की है और कांग्रेस की सरकार प्रदेश की जनता का दिल जितने की कोशिष कर रहीं है, लेकिन शासन के नुमांईंदे हीं जनता को परेशान करने का काम कर रहे है, जिससे कहीं न कहीं इसका प्रभाव सीधा सरकार के खिलाफ जाता दिखाई दे रहा है। 
मामला विघुत वितरण कंपनी का है, जिनके द्वारा ग्राम चारणपुरा के घोगड़ाफलिया में लाईट काटकर ग्रामीणों का जीना दुष्वार कर दिया है, रात के अंधेरे में ग्रामीण रहने को मजबुर है, जिन्हें जीव जंतुओं का भय भी बना रहता है। ग्रामीणों ने बताया कि फलियें में लगभग 20 से 25 परिवार निवास करते है, जिनमें से लगभग 18 मकान मालिकों ने प्रतिमाह आने वालें बिलों का भुगतान कर दिया है, लेकिन कुछ मकान मालिकों ने बिल का भुगतान नहीं किया, इसलिए पुरे फलियें की लाईट बंद कर दी गई। साथ हीं रायपूरिया बिजली विभाग के अधिकारी विरेन्द्र सोलंकी के द्वारा पुरे फलियें का विघुत प्रदाय बंद कर देने से फलियें कें लोग अंधेरे में रहने को मजबुर हो रहे है। ग्रामीणों के अनुसार 9 नंवबर को विघुत विभाग द्वारा शासन की माफी योजना के तहत् लगी 7 डिपीयों का कनेक्शन काट दिया है, जिस कारण पुरा फलिया अंधेरे में निवास कर रहा है। अंधेरा होने के कारण यहां के रहवासीयों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इस संबंध में जेई विरेन्द्र सोलंकी से चर्चा की गई तो उन्होने बताया कि बिल बकाया होने से लाईट काटी गई थी, लाईट काटने के बाद कुछ लोगो ने बील का भुगतान कर दिया है, और अब जब तक पुरा भुगतान नहीं होगा लाईट चालु नहीं होगी। मामले में ग्रामीणों द्वारा क्षेत्रिय विधायक वालसिंग मैड़ा से चर्चा की गई तो उन्होने बताया कि में संबंधित अधिकारियों से चर्चा करके तत्काल लाईट चालु करवाता हूॅ।.

Post a Comment

Post Top Ad