Breaking

Thursday, November 14, 2019

जन प्रतिनिधियों ने पुश चिकित्सा विभाग पर लगाया उपेक्षा का आरोप......

पेटलावद से अर्जुन  ठाकुर के साथ राज  मेड़ा की रिपोर्ट

पेटलावद।
पशु चिकित्सा विभाग द्वारा १३ नवम्बर को खंड स्तरिय गोपाल पुरस्कार योजना के तहत प्रशासनिक आयोजन किया गया, जिसमें विजेताओं को पुरस्कृत किया गया। उक्त कार्यक्रम में पशु चिकित्सा विभाग ने पेटलावद तहसील क्षेत्र के जिला पंचायत सदस्य, जनपद सदस्य, पंच-सरपंच सहित कई जनप्रतिनिधियों को आमंत्रित नहीं किया। कृषको के हित में तथा आम पशुपालको को प्रोत्साहित करने के लिये, देश में श्वेत क्रांति को बढांवा देने के लिये सार्वजनिक कार्यक्रम में तड़वी, पटेल जागरुक किसानों सहित बिना किसी स्वार्थ, भेदभाव, पक्षपात नहीं करते हुवे, सबको आमंत्रित करना था, लेकिन जनप्रतिनिधियों को आमंत्रित नहीं करने से उन्होने नाराजगी जाहीर की। 
      
जिला पंचायत सदस्य श्रीमती कलावती गेहलोत सहित कई जनप्रतिनिधियों ने विभाग पर शासन के आदेश की अवहेलना एवं उपेक्षा का आरोप लगाते हुए कहां कि गोपाल पुरस्कार में गोपनीयता रखी गई कुछ लोगों को बुलाकर विभाग ने केवल ओपचारिकता पुरी कर ली, विभाग में बैठें जवाबदार कर्मचारियों ने मनमानी करते हुवे मध्य प्रदेश शासन के आदेश-निर्देश की अवहेलना की है तथा इस संबंध में मुख्यमंत्री, प्रभारी मंत्री, कलेक्टर, एसडीएम सहित संगठन एवं प्रशासनिक स्तर पर जनप्रतिनिधित्व कानून के तहत कार्यवाही की मांग की जावेगी। प्रदेश व जिला स्तर पर भी भविष्य में इसी प्रकार शासन की योजनाओं  का किसी भी विभाग के कार्यक्रम में जनप्रतिनिधियों की उपेक्षा को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। वांछित कार्यवाही नहीं होने पर पेटलावद तहसील के समस्त पंच, सरपंच,जनपद, जिला पंचायत, तड़वी, पटेल तथा आम पशुपालको किसानों द्वारा वृध्द स्तर पर आंदोलन किया जायेगा।

Post a Comment

Post Top Ad