Breaking

Friday, November 15, 2019

जनजाति विकास मंच ने बिरसा जयंती उपलक्ष्य पर मनाया "जनजाति गौरव दिवस"

पेटलावद से राज मेड़ा की रिपोर्ट

पेटलावद। स्थानीय सुन्दर गार्डन में जनजाति विकास मंच ने बिरसा मुण्डा जयंती के उपलक्ष्य पर "जनजाति गौरव दिवस" मनाया गया। जिसमें बड़ी संख्या में जनजाति समाजजन उपस्थित  हुआ। स्थानीय सुन्दर गार्डन में सभा आयोजित की गई,जहाँ मंचासीन अतिथियों, वक्ताओं एवं समाज के वरिष्ठजनों ने भगवान बिरसा मुण्डा के चित्र पर माँल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। तत्पश्चात कार्यक्रम का संचालन करते हुए सुखराम मोरी ने कार्यक्रम की भूमिका रखी और कहा आज हम सब गर्व महसूस कर रहें हैं कि आज के दिन हमारे समाज में ऐसे क्रांतिकारी ने जन्म लिया था। तत्पश्चात सुखराम दामनिया, देवीसिंह मैंड़ा, कैलाश मालिवाड़, संजय मखोड़,गुड्डडु भगत, गौरसिंह कटारा आदि वक्ताओं ने संबोधित किया और सभी ने अपने-अपने विचार व्यक्त किये।
तत्पश्चात् मुख्य वक्ता समाजसेवी श्री कैलाश जी अमलियार ने सभा को संबोधित किया।
      संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि धरती आबा भगवान बिरसा मुण्डा हमारे जनजाति समाज के गौरव थे,इसलिए आज उनकी जयंती पर हम "जनजाति गौरव दिवस" मना रहें हैं, और ऐसे कई क्रांतिकारी हमारे समाज में जन्मे हैं जिन्होंने अंग्रजों को धूल चटाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। भगवान बिरसा ने बहुत कम आयु में जनजाति समाज में जागरण किया और अंग्रेजों के खिलाफ आंदोलन किया और अंततः ब्रिटिश शासन ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया।
आज हमारे समाज में दिन प्रतिदिन समस्याएँ बढ़ती जा रहीं, हमारी संस्कृति पर अप्रत्यक्ष रूप से आघात हो रहा हैं, हमारी परंपराएँ जो समाज को एकजुट करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं, उस पर भी कहीं न कहीं अप्रत्यक्ष रूप से मिटती दिखाई दे रही हैं। वक्ताओं के संबोधन के बाद जनजाति परंपरानुसार ढोल मांदलों के साथ नगर में भ्रमण करके पुनः सभा स्थल पहूँचे जहाँ अल्पाहार के बाद समापन किया गया।
मुख्य वक्ता के संबोधन के बाद आभार कालुसिंह मैंड़ा ने माना।

Post a Comment

Post Top Ad