Breaking

Tuesday, December 10, 2019

विकास की ईबादत पर भ्रश्टाचार का पुलिंदा.शासन-प्रषासन के दावें हुए खोखले साबित

पेटलावद से  हरीश राठौड़ की रिपोर्ट

पेटलावद। विकास की ईबादत पर झुठे वादों का पुलिंदा, जिम्मेदार की अनदेखी के चलते ग्रामीणों की जान शामत में, भ्रष्टाचार का यह खेल विकास की राह में किस तरह रोड़ा बनकर सामने आया है, ऐसी बानगी देखना हो तो आप झाबुआ जिले के इस आदिवासी अंचल में देख सकते है, यहां के ग्रामीण आज भी विकास की राह में टक टकी लगायें बैठे है, सबसे बड़ी आश्चर्य की बात तो यह है कि जिम्मेदार ग्राम पंचायत धतुरिया के सामने हीं इस तरह का गंदगी का आलम देखने से लगता है कि शासन प्रशासन के विकास के दावें किस तरह इसकी पोल खोलते नजर आ रहे है। सबसे बड़ी बात यह है कि इस पुरे मामले से शासन प्रशासन के नुमाईंदे भी अनभिज्ञ है, एैसे में आमजन पर इसका दुष्प्रभाव पड़ता नजर आ रहा है, नालियों के अभाव में मुख्य मार्ग पर बहता पानी किसी बड़ी बिमारी की और इंजित करता नजर आ रहा है, जान लेवा गढ्ढो के बिच जमा पानी में मच्छरों का प्रकोप इन दिनों आमजन की जान को शामत में डाल दिया है। यहां के रहवासी बिच किचढ़ में होकर गुजरने का मजबुर है।
            मामला ग्राम पंचायत धतुरिया का है, जहां विकास के नाम पर पंचायत सरपंच-सचिव ने जमकर भ्रष्टाचार किया, ग्राम पंचायत के कमलखेड़ा फलिया में पंचायत ने कागजी घोड़ो पर रोड़ बनाकर लाखों रूपयें के व्यारे न्यारे कर लिये। जानकारी के अनुसार कमलखेड़ा फलिया में रूग्गा बा के घर से मेन रोड़ तक मार्ग का निर्माण किया जाना था लेकिन पंचायत का भ्रष्टाचार इतना चरम पर है कि यहां मार्ग सिर्फ कागज पर बना दिया गया और लाखों रूपयें का भुगतान कर लिया गया। मौके पर आज भी मार्ग का नामोनिशान नहीं है। यहां के रहवासी बताते है कि मार्ग नहीं होने से हमें खासी परेशानियों का सामना करना पड़ता है, खासकर बारिष के समय हमें किचढ़ में होकर गुजरना पड़ता है, कई बार बच्चे भी यहां गिरकर घायल हो चुके है। यह फलिया आज भी विकास की राह देख रहा है, लेकिन जिम्मेदार अपनी जेब भरने में मस्त है। सरकारें विकास को लेकर लाखों करोड़ों रूपयें पानी की तरह बहा रहीं है, लेकिन निचले स्तर पर बैठे भ्रष्ट अधिकारियों व पंचायतो में बैठे सरंपच सचिवों की मिलीभगत से शासन की मंशाओं पर पानी फिरता नजर आ रहा है।
इस संबंध में जनपद पंचायत के सीईओं एनएस चौहान ने बताया कि आपके द्वारा मुझे जानकारी मिली है, में नोडल अधिकारी व उपयंत्री को भेजकर मामला दिखवाता हूॅ, साथ हीं दोषी होने पर उचित कार्रवाई की जाएगी।

Post a Comment

Post Top Ad