Breaking

Sunday, December 29, 2019

भील लोक कला संस्कुती सम्मेलन का किया गया आयोजन.....ढोल मांदल की थाप पर निकली रैली....

पेटलावद से राज मेड़ा की रिपोर्ट

पेटलावद। रविवार को नगर के स्कुल ग्राउंड में भील लोक-कला संस्कृती सम्मेलन का आयोजन वनवासी कल्याण परिषद द्वारा किया गया, जिसमें क्षेत्र के कई आदिवासी समाजजन उपस्थित हुए। कार्यक्रम का मुख्य उदेश्य भारत के स्वाधीनता संग्राम में अपने प्राणों की आहुती देने वाले आदिवासी क्रांतिकारियों के इतिहास से समाजजनों को अवगत कराना, झाबुआ जिले में लोक कला भीलों की इस परंपरा एवं भीलों के गौरवशाली इतिहास को सभी तक पहुंचाने को लेकर इस सम्मेलन का आयोजन किया। इसी कडी में स्थानीय कालेज मेदान से स्कुल मेदान तक एक रैली निकाली गई जिसमें आदिवासी समाज के समाजजन महिलाए आदिवासी वेश भुषा में ढोल मांदल की थाप पर रैली में थिरकते हुए चल रहे थे। इसके पश्चात रैली स्कुल ग्राउंड में पहुंची जहां क्षेत्र के संगठन मंत्री प्रविण ढोलके, दलसुक बाबु, कानु महाराज, गंगारामजी महाराज ने उपस्थित समाजजन को संबोधित किया। कार्यक्रम का संचालन गणपतसिंह मुणिया ने किया। कार्यक्रम में कानजी भूरिया, सोहास बारिया, तानसिंह राठौर सरपंच माछलिया, कुंवरसिंह भूरिया, सुरभानजी भूरिया, मगनसिंह कटारा, भुरालालजी कटारा, दिनेश कतिजा, राहुल कटारा, मुन्नालाल निनामा, हरीश मैड़ा, विनय कटारा, तानसिंह डामोर, छगन गामड़, गणपतसिंह मुणिया आदि कार्यकर्ता उपस्थित थे।।
--------------------------/////////

समाचार एवं विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें

🤳राज मेड़ा  7049735636
हरिश राठौड़ :- 99816 05033

Post a Comment

Post Top Ad