Breaking

Tuesday, December 24, 2019

न्यायालय ने पिडि़तो को राशि दिलवायें जाने का किया आदेश पारीत.... मामला पेटलावद पोस्ट ऑफिस घोटाला का....

पेटलावद से हरिश राठौड़ की रिपोर्ट

पेटलावद। वर्षो पूर्व हुए पोस्ट ऑफिस घोटले काण्ड में पेटलावद सिवील न्यायालय के न्यायाधीश संजिव कटारे की न्यायालय से पिडि़तों के लिए न्याय की उम्मीद जगाने वाली खबर आई है, जिसमें न्यायालय के द्वारा पिडि़तों को राशि दिलवायें जाने का आदेश पारीत किया गया है।

क्यां है मामला.....

लगभग 4 वर्ष पूर्व पेटलावद के पोस्ट ऑफिस में खाता धारकों के जमा राशि पर धोखाधड़ी एवं फर्जि दस्तावेंजो के आधार पर ठगी का मामला प्रकाश में आया था जिसमें पेटलावद के कई खातेधारकों की राशि फर्जि पास बुक बनाकर पोस्ट ऑफिस के नाम पर तत्कालिन ऐजेंट आशोदवी मुणत व संदीप मुणत के द्वारा ठग ली गई थी और लाखों  रूपयें के इस मामले में पेटलावद के कई खातेधारकों का पैसा डुब गया था तथा इस मामले ने इतना तुल पकड़ा था कि राज्य सरकार से लेकर केन्द्र सरकार तक को हस्तक्षेप करना पड़ा था जिसमें घोटाले के मास्टर माइंट संदीप मुणत, आशा देवी मुणत, श्रेणिक मुणत सहित तत्कालिन पोस्ट ऑफिस कर्मचारियों के विरूद्ध अलग-अलग धाराओं में आपराधिक प्रकरण भी दर्ज कियें गयें थे और कई समय तक आरोपी जेल की सलाखों में भी बंद रहे है तथा वर्तमान में प्रकरण न्यायालयों में विचाराधिन है।

सिवील वाद में हुआ आदेश....

वहीं पिडि़तो के द्वारा अपनी राशि प्राप्त करने हेतू व्यवहार न्यायाधीश वर्ग 1 पेटलावद के न्यायालय में पृथक-पृथक सिवील वाद प्रस्तुत कियें गयें थे, इसी क्रम में वादी उमेश पिता अनिल कुमार पाठक के वाद पर प्रतिवादी 7 लगायत 12 आशादेवी मुणत, संदीप मुणत, मंगलसिंह नायक, भारतसिंह बारिया, जितेन्द्र वर्मा से वादी उमेश पाठक को 2 लाख रूपयें दिलवायें जाने का आदेश पारीत किया गया, वहीं दुसरे प्रकरण में प्रियंका पिता अनिल पाठक को भी प्रतिवादियों से 2 लाख रूपयें दिलवायें जाने का आदेश पारीत किया गया है। साथ हीं किर्तिबाला पति कमलसिंह कुशवाह निवासी पेटलावद के द्वारा प्रस्तुत वाद पर प्रतिवादियों से 60 हजार रूपयें दिलवायें जाने का आदेश न्यायाधीश संजिव कटारे के न्यायालय से पारीत किया गया है। उल्लेखनिय है कि इस वाद में वादीगण के द्वारा प्रतिवादी क्रमांक 1 लगायत 6 भारत संघ के सचिव डॉक विभाग दुर संचार एवं सुचना प्रोद्योगिकी मत्रालय नई दिल्ली, उपसंचालक डॉक संसद मार्ग नई दिल्ली, मुख्य डॉकपाल जनरल म0प्र0 भोपाल, पोस्ट मास्टर जनरल इंदौर, अधिक्षक डॉक घर रतलाम व अनु डॉकपाल उप डॉकघर पेटलावद को भी पक्षकार के रूप में संयोजित किया गया था किन्तु न्यायालय के द्वारा वादीगण के अधिवक्ताओं के तर्को के आधार पर निष्कर्ष निकालते हुए उपरोक्त राशि अदायगी का आदेश प्रतिवादी क्रमांक 7 लगायत 12 से दिलवायें जाने हेतू आदेश पारीत किया गया है।
इस संबंध में पिडि़तो द्वारा न्यायालय की न्याय व्यवस्था पर संतोष जताते हुए इस आदेश को पिडि़तो के प्रति न्याय होना बताया है, साथ हीं मांग की गई है कि न्यायालय के द्वारा जो आदेश पारीत किया गया है उसकी वसुली की कार्रवाई भी शिघ्र करवाते हुए जल्द राशि हमें लोटाई जाए।

---------------------////////////

समाचार एवं विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें
🤳राज मेड़ा  7049735636
हरिश राठौड़ :- 99816 05033



Post a Comment

Post Top Ad