Breaking

Thursday, January 30, 2020

नवजात शिशु अब बाल कल्याण समिति की न्यायिक देख रेख में "

पेटलावद से हरिश राठौड़ की रिपोर्ट

झाबुआ । लगातार जिले मे नवजात शिशुओ को बेहद मार्मिक ,दयनीय अवस्था मे प्राप्ति हो रही जहा मानवीयता का अंत दिखता वहा इन्हे नलियो के पास,प्लास्टिक की थैली में या अनजान हाथो मे डाल कर इन जिगर के टुकड़ो को परित्यक्त कीया जा रहा हैं जो एक गहन अपराध का रुप भी लेता जा रहा ।वैसे ही मंगलवार सुबह को एक जोड़े ने पाँच दिन की अल्पविकसीत नवजात बालिका को एक अनजान महिला के हाथो मे देकर लापता हो गये ।
   कुछ समय इन्तजार के बाद महिला ने आस पास के लोगो की मदद से शिशु को जिला चिकित्सालय झाबुआ मे ऐडमिट करा दिया शिशु पीलिया से भी ग्रस्त हैं । जो शिशु रोग विशेषज्ञ डॉक्टर चौहान के दिशा निर्देश मे उपचार चल रहा । बाल कल्याण समिति न्यायपीठ  झाबुआ ने मामले को संज्ञान मे लेते हुये शिशु को न्यायिक प्रक्रिया मे ले लिया जिसके तहत शिशु के पलको की खोज के साथ उसे अपनी देख रेख व संरक्षण मे ले लिया हैं । बाल कल्याण समिति अध्यक्ष निवेदिता सक्सेना,गोपाल सिंह पँवार,ममता तिवारी,चैतना सकलेचा,चाइल्ड लाईन टीम खुशबु मौर्य,अनिता,पूजा व पुलिस निरीक्षक के एस मैडा ने हॉस्पिटल जाकर डॉक्टर चौहान से बच्ची के स्वास्थ  की जानकारी ली ।शिशु के स्वस्थ होते ही उसे शिशु ग्रह पहुचा दिया जाएगा।

Post a Comment

Post Top Ad