Breaking

Sunday, January 12, 2020

रबी फसलों के लिए वरदान साबित होगी ठण्ड़....... तापमान गिरने से गेंहू के अच्छे उत्पादन की उम्मीद...

पेटलावद से राज मेड़ा की रिपोर्ट

पेटलावद। जनवरी महीने में सर्दी बढ़ना रबी सीजन की फसल के लिए लाभकारी माना जा रहा है। विशेषकर गेहूं, लहसुन, प्याज फसल के लिए। वहीं ठंड बढ़ने से फसल बढ़वार पर हैं। मौसम में आए बदलाव से किसान राहत महसूस कर रहे हैं। सुबह और शाम ओस गिरने का सिलसिला भी शुरू हो गया है। तापमान में आई गिरावट से सर्दी ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है। कड़ाके की ठंड ने किसानों के चेहरे पर मुस्कान ला दी है। कोहरा पड़ने व तापमान में गिरावट होने से किसानों को रबी फसलों की अच्छी पैदावार की उम्मीद है। मौसम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार अभी सर्दी और बढ़ेगी। रबी फसलों के तहत प्रमुख फसलों में गेहूं, सरसों, चना, मसूर, मटर,लहसुन आदि की फसलों को व्यापक फायदा पहुंचने की उम्मीद बढ़ गई है। वहीं प्याज, लहसुन की फसल की जल्दी बोवनी की गई है। किसानों के खेत में अभी दवाई का छिड़काव किया जा रहा है।

दाना बनाने में करेगी मदद....

मनासिया के उन्नत किसान रामा भेरा मुणिया ने बताया कि अभी गेहूँ की फसल अपने पूरे यौवन पर है। इस समय जितनी ठंड गिरेगी उतना फायदा होगा क्योंकि फसल में फुल आ रहे है तथा कुछ दिनों में दानों के फुल में दुध आयेंगा इसलिए यह ठण्ड दाना बनाने में मदद करेंगी। जिस प्रकार से ठंड अपना तेवर दिखा रही है उस हिसाब से गेंहू के उत्पादन में बढ़ोतरी होगी।

घने कोहरे से हो सकता है नुकसान.....

ग्राम झरनिया की महिला किसान जोसना गरवाल बताती है कि अभी तक जो ठंड गिर रही है वो गेंहू के साथ साथ लहसुन और प्याज को भी फायदा पहुंचाएगी, आगे इन फसलों पर फरवरी का मौसम कैसा रहता है, यह बहुत महत्वपूर्ण रहेगा, इस बीच यदि कोहरा घना हुआ तो नुकसान कि संभावना भी हो सकती है।

गीर सकता है पाला...

कृषि विभाग के एसडीओ एल सी खपेड ने बताया कि ठंड के कारण पारा लगातार गिरने के कारण हिम या पाला गिर सकता है। किसानों को ऐसी स्थिति में फसलों पर सल्फर के छिड़काव, नितमित हल्की सिचाई एव खेत के चारो ओर धुंआ करना चाहिए।

--------------------///////

समाचार एवं विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें

🤳राज मेड़ा  7049735636

   हरिश राठौड़  99816 05033

Post a Comment

Post Top Ad