Breaking

Tuesday, February 11, 2020

शिव रात्रि मेला व 16 फरवरी से अमर शहीद चंद्रशेखर आजाद की कर्मस्थली सीतापाठा पर श्रीमदभागवतकथा प. श्री रमाकांत जी ब्यास के मुखारबिंद से संपूर्ण कार्यक्रम में खनियाधाना नगर पंचायत सीएमओ विनय कुमार भट्ट की रहेगी महत्वपूर्ण भूमिका

खनियाधाना से  शिवम पाण्डेय की रिपोर्ट
खनियाधाना -  शिवपुरी जिले के खनियाधाना नगर के एतिहासिक स्थल सीतापाठा जो अमर शहीद पं.चंद्रशेखर आजाद की कर्मस्थली भी कहा जाता है, जहाँ पर आजाद ने रहकर अपना अज्ञात बास गुजरा था वही खनियाधाना नगर प्रशासन द्वारा महा शिवरात्रि पर प्रतिवर्ष लगने वाले मेले को इस बार भी भव्यतम रूप दिया जा रहा है। वही क्षेत्रीय विधायक के पी सिंह कक्काजू एवं नगरपरिषद प्रशासक व एस डी एम उदयसिंह सिकरवार के निर्देशन में नगरपरिषद सीएमओ के प्रबंधन में खनियाधाना का ऐतिहासिक सीतापाठा मेला इस बार भव्यतम रूप में दिखेगा। विधायक के पी सिंह जी द्वारा हाल ही में पं.चंद्रशेखर आजाद के स्मारक का अनावरण एतिहासिक स्थल सीतापाठा पर करने के पश्चात 15 से 22 फरवरी तक लगने वाले भव्य मेले को क्षेत्रीय जनमानस की मांग पर धार्मिक आयोजन श्रीमदभागवतकथा के आयोजन के साथ साथ रासलीला आदि कार्यक्रमों से भी जोडा जा रहा है।  श्रीमदभागवत कथा का भव्य आयोजन विख्यात संत भागवतभूषण पं. रमाकांत जी ब्यास के मुखारविंद से श्रवण करने को मिलेगी। जिसकी तैयारियां युद्ध स्तर पर की जा रही हैं। मेला सहित सभी कार्यक्रमों की तैयारियों में नगर प्रशासन की टीम जुट चुकी है। क्
        षेत्रीय विधायक के पी सिंह कक्काजू के निर्देशन में नगर प्रशासन द्वारा आयोजित कार्यक्रम एतिहासिक एवं भव्यतापूर्ण तरीके से आयोजित किया जायेगा। जानकारी देते हुये नगर परिषद सीएमओ विनय कुमार भट्ट ने बताया कि खनियाधाना क्षेत्र का यह परम सौभाग्य है कि खनियाधाना से जुडा हुआ एतिहासिक स्थल सीतापाठा जो अमर शहीद पं. चंद्रशेखर आजाद की कर्मस्थली रहा है  प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी भव्य मेले का आयोजन क्षेत्रीय विधायक के पी सिंह जी एवं नगर परिषद खनियाधाना शिवकांत सोनी :-  शिवपुरी जिले के खनियाधाना नगर के एतिहासिक स्थल सीतापाठा जो अमर शहीद पं.चंद्रशेखर आजाद की कर्मस्थली भी कहा जाता है, जहाँ पर आजाद ने रहकर अपना अज्ञात बास गुजरा था वही खनियाधाना नगर प्रशासन द्वारा महा शिवरात्रि पर प्रतिवर्ष लगने वाले मेले को इस बार भी भव्यतम रूप दिया जा रहा है। वही क्षेत्रीय विधायक के पी सिंह कक्काजू एवं नगरपरिषद प्रशासक व एस डी एम उदयसिंह सिकरवार के निर्देशन में नगरपरिषद सीएमओ के प्रबंधन में खनियाधाना का ऐतिहासिक सीतापाठा मेला इस बार भव्यतम रूप में दिखेगा। विधायक के पी सिंह जी द्वारा हाल ही में पं.चंद्रशेखर आजाद के स्मारक का अनावरण एतिहासिक स्थल सीतापाठा पर करने के पश्चात 15 से 22 फरवरी तक लगने वाले भव्य मेले को क्षेत्रीय जनमानस की मांग पर धार्मिक आयोजन श्रीमदभागवतकथा के आयोजन के साथ साथ रासलीला आदि कार्यक्रमों से भी जोडा जा रहा है।  श्रीमदभागवत कथा का भव्य आयोजन विख्यात संत भागवतभूषण पं. रमाकांत जी ब्यास के मुखारविंद से श्रवण करने को मिलेगी।
         जिसकी तैयारियां युद्ध स्तर पर की जा रही हैं। मेला सहित सभी कार्यक्रमों की तैयारियों में नगर प्रशासन की टीम जुट चुकी है। क्षेत्रीय विधायक के पी सिंह कक्काजू के निर्देशन में नगर प्रशासन द्वारा आयोजित कार्यक्रम एतिहासिक एवं भव्यतापूर्ण तरीके से आयोजित किया जायेगा। जानकारी देते हुये नगर परिषद सीएमओ विनय कुमार भट्ट ने बताया कि खनियाधाना क्षेत्र का यह परम सौभाग्य है कि खनियाधाना से जुडा हुआ एतिहासिक स्थल सीतापाठा जो अमर शहीद पं. चंद्रशेखर आजाद की कर्मस्थली रहा है  प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी भव्य मेले का आयोजन क्षेत्रीय विधायक के पी सिंह जी एवं नगर परिषद प्रशासक एसडीएम उदयसिंह सिकरवार के निर्देशन में सम्पन्न होने जा रहा है। इस बार मेले के दौरान नगरवासियों की मंशा के अनुरूप विख्यात संत भागवतभूषण पं.रमाकांत जी ब्यास के मुखारविंद से श्रीमदभागवतकथा  का आयोजन 16 फरवरी से 22 फरवरी तक सम्पन्न होगा। जिसका शुभारंभ 16 फरवरी को मेला प्रांगण में कलशयात्रा के साथ किया जायेगा। कथा का समय प्रतिदिन दोपहर 2 से शायं 6 बजे तक का रहेगा। 
     वहीं श्री भट्ट ने बताया कि 18 से 20 फरवरी तक दो दिवसीय रासलीला का आयोजन वृन्दावनधाम से पधारे कलाकारों द्वारा मेला प्रांगण में ही शायं 8 बजे से देखने को मिलेगा। एतिहासिक स्थल पर भव्य मेले के दौरान अन्य कार्यक्रमों का आयोजन क्षेत्रवासियों के लिये आनंद की अनुभूति कराने के साथ साथ अमर शहीद चंद्रशेखर आजाद की स्मृति को ताजा करते हुये सीतापाठा स्थल को एतिहासिक दार्शनिक एवं पर्यटक स्थल बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायेगा। सीएमओ नगर परिषद ने सभी नगरवासियों व क्षेत्रवासियों से सीतापाठा स्थल के आयोजन के भव्य एवं सफल बनाने में सहयोग करने की अपील की है। नगर पंचायत सीएमओ विनय कुमार भट्ट ओर एसडीएम उदयसिंह सिकरवार के निर्देशन में सम्पन्न होने जा रहा है। इस बार मेले के दौरान नगरवासियों की मंशा के अनुरूप विख्यात संत भागवतभूषण पं.रमाकांत जी ब्यास के मुखारविंद से श्रीमदभागवतकथा  का आयोजन 16 फरवरी से 22 फरवरी तक सम्पन्न होगा। जिसका शुभारंभ 16 फरवरी को मेला प्रांगण में कलशयात्रा के साथ किया जायेगा। 
    
कथा का समय प्रतिदिन दोपहर 2 से शायं 6 बजे तक का रहेगा। वहीं श्री भट्ट ने बताया कि 18 से 20 फरवरी तक दो दिवसीय रासलीला का आयोजन वृन्दावनधाम से पधारे कलाकारों द्वारा मेला प्रांगण में ही शायं 8 बजे से देखने को मिलेगा। एतिहासिक स्थल पर भव्य मेले के दौरान अन्य कार्यक्रमों का आयोजन क्षेत्रवासियों के लिये आनंद की अनुभूति कराने के साथ साथ अमर शहीद चंद्रशेखर आजाद की स्मृति को ताजा करते हुये सीतापाठा स्थल को एतिहासिक दार्शनिक एवं पर्यटक स्थल बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायेगा। विनय कुमार भट्ट सीएमओ नगर परिषद ने सभी नगरवासियों व क्षेत्रवासियों से सीतापाठा स्थल के आयोजन के भव्य एवं सफल बनाने में सहयोग करने की अपील की है।
-----------------////

Post a Comment

Post Top Ad