Breaking

Saturday, February 22, 2020

पेटलावद के राजा निलकंष्ठेवर निकले लाव लष्कर के साथ अपनी प्रजा का हाल-चाल जानने.......

कलाकारों ने आकर्शक प्रस्तुतियां देकर वाहवाही लूटी......108 दीपक से रात 12 बजे हुई महाआरती.......

पेटलावद से ओपी मालवीय की रिपोर्ट।

पेटलावद। महाशिवरात्रि के पावन पर्व पर भगवान निलकंश्ठेवर महादेव लाव लकर के साथ भक्तों का हाल जानने के लिए नगर भ्रमण पर निकले। महाकाल की सवारी निलकंश्ठेवर मंदिर से साम 6 बजे निकली। जो की नगर के मुख्य मार्गो से होते हुए रात्रि 12 बजे पुनः मंदिर पर पहुंची।महाकाल की सवारी में नृत्य करते  ओघड तथा अन्य कलाकारों ने प्रस्तुतियों के माध्यम से आमजन मानस का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया। भगवान निलकंश्ठेवर महादेव की शाहीं पालकी की आरती ओर पूजन नगरवासियों ने अपने घरों से की। इस दरम्यान नगर के प्रमुख मंदिरों पर जहां से भगवान का काफिला गुजरा वहां भी विशेष आरती का आयोजन रखा गया। शिव मित्र मंडल द्वारा भगवान महाकाल की साही सवारी निकाली गई। मित्र मंडल द्वारा विगत 15 वर्षो से लगातार उक्त आयोजन किया जा रहा है। साही सवारी का दर्शन करने के लिए नगर सहित आसपास के हजारों ग्रामीण नगर में पहुंचे।

मुख्य आकर्षण का केंद्र....

मुख्य आकर्षण के रूप भगवान की पालकी ओर उसके साथ चल रहे भगवान श्वि का वेश धारण किए कलाकार शिव ताडंव नृत्य की प्रस्तुति दे रहे थे। वहीं गुजरात के कलाकारों द्वारा गरबों की प्रस्तुती दी गई,जिसे देखने के लिए आमजन का हुजूम उमडा। इसके साथ ही कत्थक नृत्य की प्रस्तुति देते मल्हार ग्रुप मुंबई के सदस्यों ने सभी का ध्यान अपनी ओर खींचा, इसके साथ ही ओरंगाबाद के कलाकार ने हनुमान का रूप धर कर कहीं पेड पर चढ कर तो कई किसी अटारी पर चढकर आमजन को अपनी ओर आकर्षित किया। हनुमान बने कलाकार ने कई स्थानों पर हनुमान चालीसा पर जीवंत विवरण देकर भक्ती रस की गंगा बहाई।
भगवान शिव की बारात में अघोडी भी शामील हुए,जिन्होंने अघोडी नृत्य की शानदार प्रस्तुतियां दी।भगवान शिव की बारात का नगर के विभिन्न स्थानों पर मंच बनाकर विभिन्न संगठनों के द्वारा स्वागत किया गया।

108 दीपक से आरती.......

शाही सवारी नगर भ्रमण के बाद रात्रि में 12 बजे पुनः संकर मंदिर पहुंची जहां पर हजारों भक्तों की उपस्थिति में 108 दीपक से भगवान की महाआरती उतारी गई। जहां पर भक्तों ने भगवान के जयकारे के साथ महाप्रसादी का वितरण कर भजनों का आनंद लिया।
भगवान की शाही सवारी में एसडीओपी बबीता बामनिया,नगर निरीक्षक दिनेश शर्मा और पुरी पुलिस टीम ने सक्रियता दिखाते हुए किसी प्रकार की अव्यवस्था नहीं होने दी। एसडीओपी और टीआई पूरे दल के साथ पूरे समय यात्रा के साथ चले। वहीं शिव मित्र मंडल के सदस्यों ने भी सक्रिय रूप से मेहनत करते हुए इस आयोजन को एतिहासिक आयोजन के रूप में मनाया।

^^^^^---👇👇👇👇

समाचार एवँ विज्ञापन के लिए संपर्क करे 
🤳🏻🤳🏻🤳🏻🤳🏻🤳🏻
राज मेड़ा  7049735636
हरिश राठौड 7974658311

Post a Comment

Post Top Ad