Breaking

Tuesday, February 11, 2020

पहले एक मुख्य मार्ग होता था जाम......अब तीन बडे ईलाकें अतिक्रमण की चपेट में...... नगर में फिर से चरमराई यातायात व्यवस्था.... प्रशासन व नगर परिषद की उदासिनता का नतिजा....

पेटलावाद से हरिश राठौड की रिपोर्ट

पेटलावद। लगभग 2 माह पूर्व प्रदेश के मुखिया मुख्यमंत्री कमलनाथ के द्वारा भू-माफियाओं पर शिकंजा कसने की घोषणा के साथ पुरे प्रदेश में प्रशासनिक अमले के द्वारा अतिक्रमण मुहिम चलाई गई और इसी क्रम में
पेटलावद के प्रशासनिक अधिकारियों के द्वारा लगातार मुहिम चलाते हुए पेटलावद एवं आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में अतिक्रमण मुहिम चलाकर जोर शोर से कार्रवाई की गई और मुख्य रूप से पेटलावद के रायपूरिया-बामनिया मुख्य मार्ग पर स्थित अतिक्रमण को हटाकर यातायात व्यवस्था को सुद्रढ़ करते हुए सब्जी व फल विक्रेताओं को केसरिया कुण्ड स्थित सब्जी मण्डी में बिठाने की मुहिम चालु की गई। प्रशासन के अधिकारियों के द्वारा की गई इस व्यवस्था को नगर के नागरिको के द्वारा मुक्त कंठ से प्रशंसा करते हुए प्रशासन का सहयोग भी किया गया लेकिन नगर की जिस जनता ने प्रशासन की इस कार्रवाई को सहयोग किया था वहीं जनता अब लगातार प्रशासन की लापरवाहीं व अनदेखी के चलते प्रशासन को भला बुरा कोस रहीं है।
फिर से होने लगा रोड़ जाम....

मुख्य मार्ग पर कुछ समय तक लोगो के द्वारा दो पहिया वाहनों पर फुटपाथ पर चढाकर रखने की रस्म अदायगी के बाद फिर से रायपूरिया-बामनिया मार्ग पर गांधी चौक से लेकर श्रद्धांजली चौक तक दोनो और बेतरतिब तरीके से आधे रोड़ पर वाहन खड़े करके यातायात बाधिक किया जा रहा है, जिससे बडे वाहनों की आवाजाहीं के साथ हीं साथ पेदल चलने वाले यात्रियों को भी परेशानी हो रहीं है वहीं मुख्य चौराहों पर वाहन निकालने की जगह नहीं होने से प्रतिदिन वाहनों के बिच दुर्घटना होने की भी संभावना प्रबल हो गई है।

रोड़ पर आ गयें सब्जी विक्रेता....

केसरिया कुण्ड को छोड़कर सभी सब्जी विक्रेता फिर से रोड़ पर आ गयें है और रोड़ पर जहां तहां ठेलागाड़ी खड़ी करके या रोड़ पर हीं सब्जी की दुकान लगाकर पुरी व्यवस्था को भंग करते नजर आ रहे है, अतिक्रमण व यातायात व्यवस्था पूर्ण रूप से चरमरा गई है, वहीं कई सब्जी विक्रेताओं के द्वारा शंकर मंदिर के पिछे सिर्वी मोहल्ले में दुकानें लगाना तो प्रारंभ कर दिया लेकिन यहां भी यातायात व्यवस्था धवस्त हो गई है, पहले जहां एक हीं रोड़ बाधित होता था अब धिरे-धिरे सिर्वी मोहल्ला, भगतसिंह मार्ग और मुख्य मार्ग भी सब्जी व फल
विक्रेताओं के अतिक्रमण की चपेट में आ गयें है।

एसडीएम के निर्देशों का नहीं पालन.....

अतिक्रमण कारियों को हटाकर व सुव्यस्थित सब्जी मण्डी केसरिया कुण्ड में चालु करने के बाद एसडीएम एमएल मालवीय के द्वारा नगर परिषद को दल बनाकर इस व्यवस्था पर नजर रखने और निर्देशों का उलंघन करने पर कार्रवाई करने का पत्र जारी किया था किन्तु राजनितिक हितो को साधने वाली स्थानीय नगर परिषद व जिम्मेदार अधिकारी अपने वरिष्ट अधिकारियों के आदेशों को हवा में उडा देते है और ऐसा कुछ स्थानीय नगर परिषद ने भी किया और लगातार मानिटरिंग के अभाव में फिर से पुरा नगर अतिक्रमण और यातायात अव्यवस्था की चपेट में आता दिखाई दे रहा है। जिसके संबंध में लगातार नगर के जागरूक नागरिक शोसल मिडि़या पर प्रशासनिक अव्यवस्था को लेकर चर्चाए कर रहे है।

Post a Comment

Post Top Ad