Breaking

Tuesday, February 11, 2020

खनियाधाना में रात दस बजे के बाद मैरिज हाउसों में सुनाई देती हैं डीजे की धुनें । मैरिज हॉल संचालकों की खुलेआम मन मानी से परेशान हैं नागरिक ।


 ग्वालियर से  शिवम पाण्डेय  रिपोर्ट 8357045309
ग्वालियर ब्यूरो। नगर में इन दिनों शासन के आदेश की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही हैं क्योंकि शहर में ध्वनी प्रदूषण इस कदर हैं कि देर रात तक विवाह घरों में खुलेआम डीजे बजाए जा रहे हैं। साथ ही डीजे की तेज ध्वनि के कारण कई हार्ट टैक के मरीजों की जान जाने तक कि आशंका का। इसके बाद भी  प्रशासन इन लॉज व डीजे संचालक के खिलाफ आज तक कोई कार्यवाही नहीं कर पाया। इसके कारण इन विवाह घरों, मैरिज हाउस संचालकों  के इतने हौंसले बुलंद हैं कि रात भर कान फोडू डीजे साउण्ड बजाते रहते हैं। इसकी की ध्वनि देर रात्रि तक लोगों की नींद भी खराब कर देती हैं, जिससे कई लॉज एवं विवाह घर के पास रहने वाले लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा हैं। अब देखना यह हैं प्रशासन इन लॉज व डीजे संचालकों को बंद कराने में सफल हो पाते हैं या नहीं?
      यहां बताना मुनाशिव होगा कि हाल ही में इन दिनों हाई स्कूल व हायर सेकेण्ड्री की परीक्षायें नजदीक हैं, इसके चलते इन दिनों बच्चों की पढ़ाई पर भी इन लॉज संचालकों के कारण प्रभावित हो रही हैं।  प्रशासन से शहर के जागरूक ना गरिकों ने इन लॉज, व विवाह घर में 10 बजे के बाद संचालित डीजे साउण्ड पर तत्काल प्रभाव से कार्यवाही करना चाहिए। जिससे आम नागरिकों को इस ध्वनि प्रदूषण से राहत मिल सके। क्योंकि इन दिनों शहर में शादी समारोह के आयोजन लगातार अनबरत रूप से जारी हैं। जबकि डीजे संचालक बड़े ट्रालों में बड़े-बड़े साउण्डों के साथ शहर में बरातों में, लॉजों में आरके एस्ट्रा एवं डीजे के माध्यम से देर रात तक इनकी ध्वनि शहर भर में गूंजती रहती हैं। लॉज के आसपास निवास करने वाले जागरूक लोगों ने जानकारी देते हुए बताया कि पूर्व में प्रशासन ने साउण्ड संचालकों के साथ एक बैठक आयोजित कर साफ तौर से निर्देशित भी किया था कि नियमों का उलंघन नहीं हो,।  साथ ही इन दिनों शिक्षा विभाग द्वारा कई प्रकार की बच्चों की परीक्षायें आगामी दिनों संचालित होना हैं। इसकी तैयारियां भी बच्चों के द्वारा लगातार की जा रही हैं। साथ ही कई हृदय घात के मरीजों पर भी इन दिनों कान फोडू साउण्डों की आवाज से परेशानी का सामना करना पड़ रहा हैं। इसलिए तत्काल 10 बजे के बाद शहर साउण्डों की आवाज तत्काल जिला प्रशासन को बंद कराना चाहिए।

----------------///////

Post a Comment

Post Top Ad