Breaking

Wednesday, March 18, 2020

पुलिस ने 34 नामजद व 200 अन्य ग्रामीणों के खिलाफ दर्ज की एफआईआर..... 5 आरोपियों को भेजा जेल.... चौकी पर चाक चोबंद व्यवस्था.....




पेटलावद से हरिश राठौड़ की रिपोर्ट

पेटलावद। मंगलवार को मुख्यालय से 14 किमी ग्राम सारंगी में हुए पुलिस व पिडि़त परिवार के बीच तनाव के मामले में पुलिस ने विभिन्न धाराओं में 34 लोगो के नामजद व 200 अन्य ग्रामीणों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। मंगलवार को ग्राम नवापाड़ा में शराब का वाहन पलटने से एक युवक सुरेश पिता मोहन भूरिया निवासी हवारूण्ड़ा की मौत हो गई थी जिसके चलते पुलिस द्वारा मौके से शव को उठाकर पीएम हेतू सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लाया गया था। मृतक के परिजनों का आरोप था पुलिस के द्वारा उन्हें कोई सुचना दियें बगेर शव को घटना स्थल से उठाकर लाया गया तथा उनके पुत्र की शराब ठेकेदार ने हत्या करवाई है और ठेकेदार के विरूद्ध हत्या का मुकदमा दर्ज किया जाना चाहिए।
मामले को लेकर मृतक के परिजनों ने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर जमकर हंगामा किया था और बाद में सारंगी पहुंचकर नेशनल हाईवें को जाम करते हुए पुलिस व प्रशासन के उपर पथराव कर दिया था इस दौरान पेटलावद तहसीलदार का वाहन क्षतिग्रस्त हो गया और एसडीओपी बबीता बामनिया को भी सीर में चोट आई। पुरे मामले में पुलिस द्वारा 34 लोगो के खिलाफ नामजद व 200 अन्य लोगो के विरूद्ध भादवी की धारा 353, 332, 341, 147, 148, 427, 506 के साथ हीं सार्वजनिक सम्पत्ति नुकसान निवारण अधिनियम 1984 की धारा 3 (2) (क) में प्रकरण दर्ज कर लिया है।

पांच आरोपियों को जेल....

पुलिस द्वारा उपद्रव में शामिल पांच आरोपियों को गिरप्तार किया गया है, जिन्हें न्यायालय ने जेल भेज दिया। जानकारी के अनुसार आरोपी पवन डामोर नि. कसारबडऱ्ी, जितेन्द्र कटारा नि. छावनी, मुकेश वसुनिया नि. छोटी बोलासा, तेरसिंग वसुनिया नि. उमेदपुरा तथा विष्णु को पुलिस द्वारा पंजिबद्ध अपराध में गिरप्तार करते हुए न्यायाधीश संजिव कटारे के न्यायालय मे ंप्रस्तुत किया और न्यायालय के द्वारा पांचों आरोपियों को न्यायीक हिरासत जिला जेल झाबुआ में भेजने का आदेश जारी करते हुए अगली सुनवाई तक जेल भेजा गया।

अंतिम संस्कार हुआ....

इस पुरे घटनाक्रम में पोस्टमार्टम नहीं कराने की बात पर अडे हुए परिजनों की उपस्थिती में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर मृतक सुरेश के शव का पीएम करने के बाद शव परिजनों को सुपुर्द किया गया और परिजनों के द्वारा बुधवार को शव का अंतिम संस्कार किया गया। सुरक्षा की दृष्टी से सारंगी चौकी पर भारी संख्या में पुलिस बल तथा अन्य प्रशासनिक अधिकारी मौजुद थे।
वहीं इस संबंध में थाना प्रभारी संजय रावत और एसडीओपी बबीता बामनिया ने बताया कि अन्य आरोपी की सघनता से तलाश करने के साथ हीं मामले की जांच की जा रहीं है तथा क्षेत्र में शांतिपूर्ण माहोल बना हुआ है।


👇🏻👇🏻👇🏻👇🏻👇🏻👇🏻👇🏻👇🏻

समाचार एवं विज्ञापन के लिए संपर्क करे 
🤳🏻🤳🏻
राज मेड़ा :- 7049735636
हरिश राठौड़  7974658311

Post a Comment

Post Top Ad