Breaking

Thursday, March 26, 2020

सुबह 6 से 10 की छूट में हमारी 22 घंटो की तपस्या खत्म न हो जाए? ग्रामीण क्षेत्रों में जन जागरूकता की आवश्यकता...... विधायक ने मुख्यमंत्री राहत कोष में दो माह का वेतन दिया...




पेटलावद से हरिश राठौड़ की रिपोर्ट

पेटलावद। लॉकडाउन के दरम्यान सुबह 6 से 10 बजे के बीच जो छुट दी जा रही है। उसमें में नगर में सब्जी वालों व अन्य दुकानों पर भारी भीड देखी जा रही है। जिसमें सोशल डिस्टेंसींग के प्रयासों को विफल होते देखा जा रहा है। हम लोग बाकी 22 घंटे घर में केद रहने के बाद यदि दो घंटे बाजारों में बिना सुरक्षा या बिना किसी समझदारी के रखे घूमेंगे तो हमारे सारे प्रयास विफल हो जाएगे। यह स्थिति पेटलावद नगर के बाजारों में देखी जा रही है। जिसके लिए जागरूक नागरिकों ने प्रशासन से मांग की है। कि सुबह के समय सब्जी वालों के लिए नगर में अलग अलग झोन बनाए जाए ताकी सब्जी वाले भी उसी झोन में रहे तथा नागरिक भी

एक क्षेत्र से दूसरे क्षेत्र में न जा सके। 

किराना व मेडिकल स्टोर पर सोशल डिस्टेंसींग को देखा जा रहा है। जहां पर दुकानों के बाहर गोले बनाकर पर्याप्त दूरी पर ग्राहको को खडा किया जा रहा है। ऐसी ही व्यवस्था सब्जी की दुकानों पर की जाए तथा एक सब्जी वाले से दूसरे सब्जी वाले की दूरी लगभग 100 मीटर की दूरी के नियम का पालन करवाना आवश्यक है।

ग्रामीण क्षेत्रों में स्थिति खराब...

वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में इस समय स्थिति काफी खराब नजर आ रही है। यहां तक की ग्रामीण क्षेत्रों में लॉकडाउन का असर नजर ही नहीं आ रहा है। पेटलावद नगर के समीप रूपगढ में तो एक दुकानदार ने चाय की होटल ही खोल दी और सैकडो ग्रामीणों को अपनी होटल पर बिठा रखा। इसकी सूचना ग्राम के जागरूक नागरिक द्वारा पुलिस को दी गई। जिसके बाद पुलिस ने सक्रिय हो कर मौके पर पहुंचकर दुकान को बंद करवाया और ग्रामीणों को तीतर बीतर किया। यहीं स्थिति तारखेडी सहीत अन्य ग्रामीण क्षेत्रों में भी बनी हुई है।

वाहन भी चल रहे.....

वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में वाहनों में भी ग्रामीण बडी संख्या में बैठ कर एक स्थान से दूसरे स्थान पर जा रहे है। बसे व अन्य साधन बंद है तो कई लोडिंग वाहन व छोटे टेंपो का उपयोग कर एक स्थान से दूसरे स्थान पर जा रहे है। जिसमें एक वाहन में 10 से अधिक लोग एक साथ बैठ कर जा रहे है और सुरक्षा मानकों का कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

नगर में 10 बजे बाद आवागमन कम.....

नगर में पुलिस की सख्ती के चलते सुबह 10 बजे के बाद आवागमन एक दम बंद सा हो गया है। यहां पर 10 बजे के बाद पूरी सडके सुनसान दिखाई दे रही है। केवल पुलिस के जवान गश्त करते हुए दिखाई दे रहे है और नगर परिषद की टीम जो की नगर को सेनटराइज करने में लगी हुई है।

गरीबों तक सहायता पहुंचाने के प्रयास......

इन सब स्थितियों में शासन स्तर और सामाजिक संगठनों के द्वारा गरीब लोगों तक सहायता पहुंचाने के अपने स्तर पर कई प्रयास किए जा रहे है। कोई खाने की व्यवस्था कर रहा है तो कोई आवश्यक दवाई की जरूरत पडने पर अपने हेल्पलाइन नंबर दे रहा है। कई व्हाटसअप ग्रुप बनाकर अपने आसपास के लोगों तक सहायता पहुंचाना चाहते है। 

दवाईयों का वितरण।

स्वास्थ्य विभाग के द्वारा इस दरम्यान दवाईयों का वितरण भी किया जा रहा है। जो की मनुष्य की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने में सहयोग प्रदान करेगी। इसके साथ ही विभाग के द्वारा अपील की जा रही है। कि अपना बचाव अपने घर में ही रह कर करें।

विधायक ने दिया दो माह का वेतन।

क्षेत्रीय विधायक वालसिंह मेडा लगातार सोशल मिडिया के माध्यम से आमजन को अपील कर कोरोना वायरस से बचने की सलाह दे रहे है। गुरूवार को उनके द्वारा सोशल मिडिया पर ही एक विडियो डालकर जानकारी दी गई है कि कोरोना वायरस की महामारी से निपटने के लिए वह अपने दो माह का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा कर रहे है। तथा मुख्यमंत्री से मांग भी की है कि गुजरात व अन्य राज्यों में हमारे आदिवासी भाई बहन फंसे है या तो उन्हें घर तक लाने की व्यवस्था करे या वहीं पर उनके लिए भोजन व अन्य सामग्री का इंतजाम करने का प्रयास करें।

👇🏻👇🏻👇🏻👇🏻👇🏻👇🏻👇🏻👇🏻

समाचार एवं विज्ञापन के लिए संपर्क करे 
🤳🏻🤳🏻
राज मेड़ा :- 7049735636
हरिश राठौड़  7974658311


Post a Comment

Post Top Ad