Breaking

Tuesday, March 17, 2020

शराब वाहन के पलटने से युवक की मौत... आक्रोशित परिजनों ने किया हाईवें जाम.... पुलिस व प्रषासन पर किया पथराव....




पेटलावद से हरिश राठौड़ की रिपोर्ट

पेटलावद। मंगलवार को पुलिस व पिडि़त परिजनों के बीच तनाव पेदा हो गया, जिसके बाद पेटलावद नगर में पिडि़त परिजनों ने जमकर हंगामा किया तथा बाद में नेशनल हाईवें को जाम कर दिया। सोमवार रात्री में अवैध रूप से शराब भरकर ले जा रहे पीकअप वाहन के पलटने और एक युवक की मृत्यु के बाद मृतक के परिजन और पुलिस प्रशासन के बिच तनाव की स्थित पेदा होने के बाद तहसीलदार के वाहन पर पथराव के बाद सांरगी क्षेत्र में पुलिस और पिडि़त परिवार आमने सामने आ गयें है।

क्या है मामला....।

प्राप्तजानकारी के अनुसार सोमवार रात्री में अवैध रूप शराब भरकर ले जा रहीं पीकअप वाहन के पलटने से ग्राम नवापाड़ा के रहने वाले सुरेश पिता मोहन भूरिया नामक युवक की मौके पर मृत्यु होने और उसके एक साथी मंजिया पिता पुना मैड़ा नि. उमेदपुरा के घायल होने पर पुलिस के द्वारा घायल को उपचार हेतू एवं मृतक सुरेश के शव को पीएम हेतू घटना स्थल से उठाकर पेटलावद सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लाया गया, जहां मंगलवार सुबह लगभग 11 बजें मृतक के परिजनों ने अस्पताल पहुंचकर हंगामा शुरू कर दिया और पुलिस के साथ वाद विवाद करने एवं पोस्टमार्टम नहीं कराने पर अडे रहे और इस पुरी घटना को सोची समझी साजिश बताते हुए हत्या का मुकदमा शराब ठेकेदार के खिलाफ दर्ज करने की मांग करने लगे। इस पर से थाना प्रभारी संजय रावत अपने दल बल सहित अस्पताल पहुंचे और पुलिस को नियम अनुसार कार्यवाहीं करने की बात कहते हुए परिजनों को समझाने की कोशिष की गई फिर भी परिजन नहीं मानें।

हाईवें भी किया जाम....

पुलिस और परिजनों के बिच पोस्टमार्टम एवं हत्या का मुकदमा दर्ज करने की बात को लेकर विवाद इतना बड़ गया कि मृतक के परिजनों के साथ सेंकड़ों लोग सारंगी चौकी के सामने नेशनल हाईवें पर धरने पर बैठ गयें और चक्काजाम करते हुए वाहनों की आवाजाही को रोक दिया। लगभग 3 घण्टे तक लगातार प्रदर्शन करने से जाम को खुलवाने के लिए थाना प्रभारी संजय रावत, एसडीओपी बबीता बामनिया व तहसीलदार जितेन्द्र अलावा मौके पर पहुंचकर परिजनों को समझाईश देने और हाइवें जाम को खोलने की बात कहने लगे तब मौके पर भिड़ आक्रोशित हो गई और भीड़ के द्वारा पुलिस और प्रशासन के उपर अचानक पत्थरबाजी चालु कर दी जिससे तहसीलदार का वाहन के कांच फुट गयें और एसडीओपी बबीता बामनिया को सीर में चोट आई जिनका तत्काल उपचार स्वास्थ्य केन्द्र पर लाकर किया गया। विवाद बडने पर एसडीएम एमएल मालवीय भी मौके पर पहुंचे और पुलिस और प्रशासन की सख्ती करने पर हाईवें का यातायात पूनः प्रारंभ हुआ।

पिडि़त परिवार का आरोप....

इस संबंध में मृतक सुरेश के पिता मोहन भूरिया के द्वारा आरोप लगाते हुए बताया कि यदि अवैध शराब का परिवहन किया जा रहा था तो पुलिस नियम अनुसार कार्रवाई करती लेकिन मेरे पुत्र की शराब ठेकेदार ने हत्या करवाई है और पुलिस पुरे मामले को दबाने की कोश्षि कर रहीं है। वहीं पुलिस ने हमारी जानकारी में लायें बगेर शव को घटना स्थल से उठाकर सीधे पीएम के लिए लाया गया, जिससे मामला संदिग्ध है।

जांच कर की जावेगी कार्रवाई.....

इस संबंध में थाना प्रभारी संजय रावत द्वारा अस्पताल में परिजनों के आरोप को बेबुनियाद बताते हुए परिजनों को समझाया की घटना स्थल से घायल को उपचार के लिए और शव को पीएम हेतू लाना हमारी नियमित कार्रवाई का अंग है, आगे की जांच की जावेगी।     
इस संबंध में एसडीओपी बबीता बामनिया द्वारा बताया गया कि भीड़ के द्वारा हाईवें जाम करने पर उन्हें समझाने की कोशिष की गई लेकिन भीड़ के द्वारा अचानक पथराव कर दिया गया। स्थिती वर्तमान में नियंत्रण में है, नियम अनुसार जांच कर पुलिस द्वारा आगे की कार्रवाई की जाएगी।

👇🏻👇🏻👇🏻👇🏻👇🏻👇🏻👇🏻👇🏻

समाचार एवं विज्ञापन के लिए संपर्क करे 
🤳🏻🤳🏻
राज मेड़ा :- 7049735636
हरिश राठौड़  7974658311


Post a Comment

Post Top Ad