Breaking

Sunday, April 26, 2020

कलयुग के हनुमान बनकर घर घर पहुचा रहे है दवाई।


पेटलावद से हरिश राठौड़ की रिपोर्ट

 पेटलावद- विश्वव्यापी कोरोना संकट काल मे लोगो को घरों में लॉक डाउन होने पर मजबूर होना पड़ा प्रदेश सहित अन्य राज्यो में कोरोना के बढ़ते मामले देखते हुवे राज्य सरकारों सहित जिला प्रशासन तक ने हर व्यक्ति को जहां हैं वही रहने के निर्देश जारी कर सभी जिलो की सीमा को सील कर दी। इस विकट परिस्थिति में ग्रामीण क्षेत्रो से कई लोग कई प्रकार की बीमारी से ग्रसित है। एव अपनी बीमारी का मंथली इलाज करवाने दाहोद बरोदा जाते है। पिछले एक माह से लाक डाउन है जिले की सभी सीमाए सील है। इलाज तो ठीक दवाई गोली के लिए ग्रामीण  परेशान हो रहे थे। इस स्थिति में पेटलावद के विकास चौहान और कमल भाई भंडारी अनिल मुथा रायपुरिया ग्रामीण क्षेत्र के लिए हनुमान साबित हो रहे है। ये दोनों दाहोद बरोदा से दवाई मंगवाकर ग्रामीन क्षेत्रो में घर घर जाकर दवाई देने की सेवाएं दे रहे है। विकास चौहान और कमल भंडारी ने बताया कि इस विकट घड़ी में ग्रामीण क्षेत्रो में बुजुर्ग लोग को डेली दवाई की जरूरत होती है। ग्रामीण लोग दवाई के लिए काफी परेशान हो रहे थे। हमने उनकी परेशानी देखते हुए ग्रामीण क्षेत्रो के कई गांव में दवाई पहुचा चुके है।
बरवेट के जगदीश बैरागी ओर अशोक त्रिवेदी ने बताया कि हमने शोशल मीडिया पर ख़बर चल रही थी कि जिनको भी दाहोद बरोदा से दवाई मंगवाना हो 9926044259 पर दवाई की पर्ची वाटस एप करें। हमने दवाई की पर्ची वाट्स एप की तो दो दिन बाद दवाई घर देने आ गए। ऐसी स्थिति में मरीजों के लिए दाहोद बरोदा से दवाई मंगवाकर घर घर पहुचाने का पुनीत कार्य कर रहे है।

Post a Comment

Post Top Ad