Breaking

Saturday, May 30, 2020

कुंए तथा नदी के सहारें ग्रामीण... ग्राम पंचायत द्वारा नहीं किया जा रहा समस्या का समाधान.....





पेटलावद से हरिश राठौड़ की रिपोर्ट

पेटलावद। गर्मी अपना प्रंचण्ड रूप दिखा रहीं है, तापमान 40 से 42 डिग्री तक पहुंच गया है। नोतपा के इस काल में जहां लोगो का घर से निकलना दुभर हो रहा है, वहीं ग्राम पंचायत टेमरिया के महिलाओं को पीने के पानी के लिए अपने छोटे बच्चों के साथ दुर-दुर तक पेदल यात्रा करने का मजबुर होना पड़ रहा है। छोटे-छोटे बच्चें भी अपने माता-पिता के साथ पानी लिए परेशान होते नजर आ रहे है। जनप्रतिनिधी ग्रामीणों की समस्या से अवगत होने के बावजुद कोई हल नहीं निकाल रहे है। गर्मी के दिनों में पानी की काफी किल्लत रहती है। खासकर ग्रामीण अंचल में इन दिनों पानी के लिए हाहाकर मचा हुआ है। महिलाए, पुरूष तथा बच्चें भी पानी के लिए इधर-उधर भटकने को मजबुर है।

क्यां है मामला.....

पेटलावद विकासखण्ड के अंतर्गत बदनावर मुख्य मार्ग से जुड़ी हुई ग्राम पंचायत टेमरिया जो कि मुख्यालय से बमुश्किल 10 किमी दूर है। इस पंचायत के अंतर्गत खामड़ीपाड़ा फलिया में इन दिनों पानी की खासी समस्या दिखाई दे रहीं है। इस फलियें में लगभग 80 से 85 घरों के मध्य 350 से 400 लोग निवासरत है। इस फलियें में पीने के पानी के लिए ग्राम पंचायत के द्वारा कोई स्थाई व्यवस्था नहीं की गई है। मात्र एक सार्वजनिक होल है जिस पर पुरे फलिया पानी के लिए निर्भर है। बानगी यह है कि इस होल का संचालित करने की व्यवस्था ग्राम पंचायत के सरपंच के हाथों में है और राजनितिक द्रेशता के चलते सरपंच के द्वारा महिने में 3 से 4 बार हीं होल से पानी उपलब्ध करवाया जा रहा है तथा पानी भी कम हीं आता है, जिससे ग्रामीणों को पानी की पूर्ति नहीं हो पाती है। शेष दिनों में ग्रामीण अन्य स्थानों से पानी लाने को मजबुर है

ग्रामीणों ने कहां....

ग्रामीण नारायण गरवाल ने जानकारी देते हुए बताया कि इस फलियें में पानी नहीं दिया जाता है, जबकि उपरी फलियें में सरपंच के सहयोग से पानी की कोई कमी नहीं है। हमारें फलियें में पानी उपलब्ध हो इसलिए सरपंच को कई बार कहां लेकिन हमारी समस्या का निराकरण नहीं किया। मजबुरन हमें कुएं और नदी से पानी लाना पड़ रहा है।

ग्रामीण महिला कलाबाई ने बताया कि यहां पानी की बहुत ज्यादा परेशानी है, हमें छोटे बच्चों के साथ दुर-दुर पानी लेने जाना पड़ता है। पुरा दिन हमें पानी के लिए भटकना पड़ता है, ग्राम पंचायत द्वारा कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

ग्रामीण महिला ललिताबाई ने बताया कि दुर-दुर से पानी लाते है, कई बार सरपंच को पानी समस्या दूर करने का बोला तो वह कहते है कि कुंए से पानी भर लाओं। सरपंच द्वारा हमारें साथ भेदभाव करते हुए पानी उपलब्ध नहीं करवा रहे है।

समाचार एवं विज्ञापन के लिए संपर्क करे 
राज मेड़ा7049735636
हरिश राठौड़ 
7974658311


Post a Comment

Post Top Ad