Breaking

Thursday, May 14, 2020

भारी भरकम विघुत बील ने डाला मुसीबत में..... विधुत विभाग ने थमाए उपभोक्ताओ को भारी भरकम बिल




पेटलावद से हरिश राठौड़ की रिपोर्ट

पेटलावद। कोरोना सक्रमण के चलते एक और जहां पुरे देश में लाॅक डाउन घोषित है, जिसके चलते आमजन की आय के स्त्रोत पूर्ण रूप से ठप्प है, एैसे में लोगो की चिंता बढ़ रहीं है। वहीं दूसरी और उन्हें मिलने वालें भारी भरकम विघुत बील से जोर का झटका लगा है।

शोसल मिड़िया पर विरोध... 

नागरिक तेजकरण काग, दीपक राठौड़, मनोज वैरागी, जितेंद्र जाटव आदि शोसल मिड़िया पर अपनी भड़ास निकाल रहे है। बता रहे है कि पिछले दो माह से काम धंधे सब बंद पडे है। वहीं विघुत विभाग द्वारा उन्हें दुगना तिगना बील थमा दिया है। इतनी तो लाईट की खपत हीं नहीं हुई है, तो फिर किस आधार पर विघुत विभाग ने बील दिया है।  वहीं कई लोगो की दुकानें पिछले दो माह से बंद है जहां विघुत खपत नहीं हो रहीं है, फिर भी दुकानदारों को अधिक राशि का बील थमा दिया और मेसेज के माध्यम से बील की सुचना दी जा रहीं है।

नहीं हुई रिडिंग....

पिछले लगभग 50 दिनों से लाॅक डाउन चल रहा है जिसके चलते लोगो का घर से निकलना बंद हो गया है। इन दिनों में विघुत विभाग के किसी भी कर्मचारी ने लोगो के घरों से मीटर से रिडिंग प्राप्त नहीं की है तो फिर किस आधार पर बिना रिडिंग के उपभोक्ताओं को भारी बील थमायें गयें है। लोगो ने यहाँ तक कहां कि यदि विघुत विभाग द्वारा एवरेज बील भी दिया गया हो तो एकदम पिछली राशि से बढ़कर कई गुना बील दिया है जो कि लोगो के लिए आर्थिक परेशानी का विषय बन गया है।
इस सम्बंध में विधुत विभाग के सहायक यंत्री जितेंद्र वाघेला ने बताया कि शासन के निर्देशानुसार लॉक डाउन में पिछले माह की खपत के आधार पर विद्युत बिल के मैसेज दिए गए हैं यदि किसी उपभोक्ता को इस संबंध में कोई शिकायत है तो वह कार्यालय में सुधार हेतु संपर्क कर सकते हैं।


Post a Comment

Post Top Ad