Breaking

Monday, May 11, 2020

रोजगार सहायक ने मृत माता-पिता के नाम पर निकाला पैसा..... सरकारी योजनाओं ने गड़बड़ झाला.... जांच दल ने कार्यवाहीं की अनुषंषा.....


पेटलावद से हरिश राठौड़ की रिपोर्ट

पेटलावद। ग्राम पंचायत घुघरी के रोजगार सहायक ने अपनी मर्जी अनुसार शासकीय योजनाओं में जमकर घपला किया। गांव घुघरी के ग्रामीण दिपक कुमार तोमर, कृष्ण कुमार कटारा, लोकेन्द्रसिंह राठौर, विक्रम गुर्जर आदि ने पेटलावद सीईओं को एक शिकायती आवेदन पत्र सोपंते हुए बताया कि घुघरी के रोजगार सहायक गोवर्धनलाल गरवाल के पिता पुंजा गरवाल की दिनांक 19/11/09 तथा माता गेंदाबाई की मृत्यु दिनांक 07/09/07 को हो गई थी किन्तु रोजगार सहायक ने कियोस्क सेंटर से मनरेगा योजना अंतर्गत उसके माता-पिता की मृत्यु हो जाने के बावजुद मनरेगा योजना में कार्य करना बताते हुए 82 दिनों की राशि फर्जि तरिके से आहरित कर ली। वहीं बड़लीवाली नाकी, निस्तार तालाब, में इन लोगो को मजदूरी करना बताते हुए हाजरी डालते हुए भ्रष्टाचार किया है और ग्राम पंचायत के अधिन होने वाले विभिन्न निर्माण कार्या में गबन करते हुए मजदूरों की अपने परिजनों व स्वयं का नाम फर्जि तरिके से इंन्ट्री करते हुए हड़प ली है। शिकायती आवेदन के साथ मृतक गेदाबाई व पुंजा के मृत्यु प्रमाण पत्र भी सलंग्न कियें गयें थे।

गठित दल ने सोंपी रिपोर्ट......

ग्रामीणां की शिकायत पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत पेटलावद द्वारा 5 सदसीय दल गठित करते हुए जांच प्रतिवेदन मांगा था जिस पर गठित दल में शामिल अतिरिक्त कार्यक्रम अधिकारी ग्रामीण रोजगार योजना, उपयंत्री मनरेगा, सहायक विकास विस्तार अधिकारी, एई जनपद पंचायत पेटलावद द्वारा जांच करते हुए शिकायतकर्तागण की शिकायत की बिंदुवार प्रतिवेदन व निष्कर्ष दिया है। जिसके अनुसार रोजगार सहायक द्वारा विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत स्वीकृत निर्माण कार्या एवं शासन के पंचपरमेश्वर योजना व अन्य मद से निर्मित सीसी रोड़ पर लागत से अधिक 86 हजार से अधिक की राशि वसुली की गई है, जो कि रोजगार सहायक से वसुल कियें जाने योग्य है। वहीं दल ने यह भी स्पष्ट किया कि रोजगार सहायक ने अपनी माता गेंदाबाई की मृत्यु उपरांत उनकी फर्जि हाजरी भरकर 1806 रूपयें एवं स्वय की फर्जि हाजरी भरकर 1587 रूपयें की राशि का भ्रष्टाचार करते हुए आहरण करते हुए मनरेगा के अंतर्गत सार्वजनिक कुप भाबरापाड़ा एवं कुण्डाल में कियें गयें निर्माण कार्यो में कुल 1लाख 29 हजार 763 रूपयें की राशि का अधिक व्यय करते हुए भ्रष्टाचार किया है, जो कि वसुल कियें जाने योग्य है। जांच रिपोर्ट में स्पष्ट किया है कि रोजगार सहायक ने अपने कार्यो में लापरवाहीं, भ्रष्टचार करते हुए फर्जि इंन्ट्री के आधार पर सरकारी राशि का गबन किया है। जिसकी वसुली के साथ हीं सेवा समाप्ति कियें जाने की अनुंशंशा भी दल ने की है।

अब तक नहीं हुई कार्यवाहीं......

ग्रामीणों ने जिम्मेदार अधिकारियों पर आरोप लगाते हुए बताया कि उनकी शिकायत की जांच करते-करते काफी समय हो गया है। जांच दल ने जांच में शिकायत सहीं पाई है तथा रिपोर्ट वरिष्ठ अधिकारियों को सोपंने के बावजुद आज तक रोजगार सहायक पर जिम्मेदार अधिकारियों ने कोई कार्यवाहीं करना उचित नहीं समझा। ग्रामीणों का यह भी कहना है कि जनपद स्तर के बड़े अधिकारी पुरे मामले को दबाना और रोजगार सहायक को बचाने की कोशिष कर रहे है।

इनका है कहना....

इस संबंध में सीईओं एनएस चौहान ने बताया कि दल द्वारा रिपोर्ट दी गई है, आगे की कार्यवाहीं जल्द की जाएगी।


👇🏻👇🏻👇🏻👇🏻👇🏻👇🏻👇🏻👇🏻

समाचार एवं विज्ञापन के लिए सम्पर्क करें 
राज मेड़ा 7049735636
हरिश राठौड़ 7974658311

Post a Comment

Post Top Ad