Breaking

Friday, June 19, 2020

खुशियों का कारवां और आगे बढ़ा- आज फिर पाँच कोविड पेशेंट स्वस्थ होकर हुए डिस्चार्ज.....


धार तिरला से पंकज शर्मा की रिपोर्ट

  धार -   प्रदेश सरकार के द्वारा कोविड-19 के अंतर्गत कोरोना संक्रमित मरीजो को उपचार देने की दिशा में भरसक प्रयास किये जा रहे है। इन प्रयासो को धार जिले में प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से निरंतर गति प्रदान की जा रही है। कोरोना संक्रमण का ईलाज संभव है। हर आयु का व्यक्ति इस संक्रमण से स्वस्थ हो सकता है। इसका प्रत्यक्ष उदाहरण बनते हुए धार में आज फिर पांच व्यक्ति कोरोना संक्रमण से ठीक होकर अपनी खुशी का इज़हार करते हुए माण्डू नाका स्थित कोविड सेंटर से अपने घर की ओर रवाना हुए। अब तक धार से कुल 130 व्यक्ति कोरोना संक्रमण से ठीक हो चुके है। ना घबराना है ना डरना है। कोरोना से बचाव के लिए स्व-अनुशासन और आत्म नियंत्रण अपनाना है। इस संदेश के साथ इन सभी ने अपील की है कि कोरोना से बचाव के लिए स्व अनुशासन में सार्वजनिक स्थलों पर सोशल डिस्टेंसिंग के पालन और आत्मनियंत्रण में अच्छे खानपान की आदतें अपनाकर शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाएं।

       Collector Dhar आलोक कुमार सिंह ने डिस्चार्ज हुए सभी को बुके और मेडिकल किट देकर उनका मनोबल बढ़ाया। साथ ही कर्तल ध्वनि के साथ उन्हें खुशी-खुशी घर की ओर विदाई दी। कोविड-19 के अंतर्गत इन सभी को पूर्व में स्वास्थ्य परीक्षण एवं स्क्रीनिंग और सेम्पल के दौरान कोरोना पॉजिटिव पाये जाने पर उनको माण्डू नाका स्थित कोविड सेंटर में भर्ती कराया गया था। साथ ही उनके घर क्षेत्र को कॉटेन्टमेंट जोन घोषित किया जाकर संपर्क में आने वाले व्यक्तियों का मेडीकल टीम द्वारा प्रतिदिन घर-घर जाकर स्वास्थ्य परीक्षण एवं स्क्रीनिंग कराई गई। जिसकी रिपोर्ट स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन को प्रेषित की गई।

         इस अवसर पर कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि धार जिले का रिकवरी रेट शुरू से ही बहुत अच्छा रहा है। जिले में अभी तक 93 प्रतिशत की रिकवरी हुई है जो प्रदेश में अच्छी केटेगरी अन्तर्गत है। आज इस कोविड केयर सेंटर से 5 पेशेंट्स को डिस्चार्ज किया जा रहा है। अब यहाॅ पर 6 पेशेंट्स व इंदौर में 2 पेशेंट भर्ती है। इसी के साथ अब जिले में 8 पेशेंट्स उपचारित है। उन्होने कहा कि आगे भी कोविड संक्रमण से बचने के लिए अर्ली टेस्टिंग सबसे महत्वपूर्ण है। जैसे ही हमे पेशेंट्स का सही समय पर पता चल जाता है और आप देख ही रहे है ये पेशेंट्स बहुत जल्दी ट्रेस हो गए थे और यह सब एसिम्टोमेटीक थे और आज यह स्वस्थ्य होकर लोट रहे है। कलेक्टर श्री सिंह ने जिले के नागरिकों से अपील की है कि वे स्वयं सक्रमण के लक्षणो के दिखने पर छुपाऐ नहीं वे जितनी जल्दी सामने आएगे उतनी ही कम रिस्क होगी और जितना ही लेट होता है इसमें उतना ही ज्यादा रिस्क बढता है। जान बचाना हम सभी की पहली प्राथमिकता है। जिले में टेस्टींग लेब प्रारंभ हो चुकी है। जिसमें प्रति दिन 25-30 टेस्ट किये जा रहे है। इसके साथ ही जिले में स्थापित सभी फिवर क्लिनिकों पर लोग स्वयं आकर अपनी जाॅच करवा रहे है।
       जिला महामारी नियंत्रण अधिकारी डॉ संजय भंडारी ने बताया कि कोरोना को मात देकर स्वस्थ हुए पांचो को माण्डू नाका स्थित कोविड सेंटर से आज डिस्चार्ज किया। भर्ती के दौरान इन मरीजो को स्वास्थ्य सुविधाएं, भोजन-नाश्ता के समुचित प्रबंध किये गये। इन पांचो मरीजो को सभी प्रकार की स्वास्थ्य सुविधाएं दी गई। साथ ही उनका सेम्पल लैबोट्री में भिजवाने की व्यवस्था की गई। इन सेम्पलो में रिपोर्ट निगेटिव आने के पश्चात डिस्चार्ज की प्लानिंग की गई। इन सभी मरीजो के डिस्चार्ज होने के बाद घर भिजवाने के लिए एम्बुलेंस उपलब्ध कराई गई व एम्बुलेस में बैठकर घर के लिए खुशी-खुशी रवाना हुये।
      इस अवसर पर सहायक कलेक्टर अमन वैष्णव, सिटी मजिस्ट्रेट वीरेन्द्र कटारे सहित मेडिकल स्टॉफ मौजूद थे।

Post a Comment

Post Top Ad