Breaking

Wednesday, June 17, 2020

फलियें-फलियें बीक रहीं शराब.....अपराधों को दे रहीं बढ़ावा..... ढाबों पर उड़ रहीं शोसल डिस्टेंस की धज्जियां......



समाचार20 से वीरेंद्र भट्ट की रिपोर्ट

पेटलावद। सरकार के द्वारा लॉक डाउन के दौरान गरीब मजदूरों और कामगारों के लिए कई प्रकार के आर्थिक सहायता के पेकेज जारी कियें जिसके चलते सरकारी खजाने पर खासा प्रभाव पडा है , इस खजानें को भरने के लिए म0प्र0 सरकार द्वारा आबकारी अधिनियम के तहत शराब विक्र्रय से मिलने वाले राजस्व को मुख्य आधार बनाकर प्रदेश में शराब बेचने की अनुमती दी लेकिन सरकार की यह नितिया झाबुआ जैसे आदिवासी ग्रामीण क्षेत्र के लोगो के लिए मुसीबत का सबब बनने के अलावा शराब माफियाओं की शह पर अपराध और अपराधी भी पनपते नजर आ रहे है।

ढाबों पर उड़ रहीं शोसल डिस्टेंस की धज्जिया.......

लॉकडाउन में छूट मिलते ही अवैध शराब माफिया फिर से अवैध शराब का कारोबार करने में लिप्त हो गयें हैं। पुलिस तथा आबकारी विभाग की मिलीभगत के चलते खुलेआम अवैध शराब का कारोबार नगर में इन दिनों धड़ल्ले से जारी है जिसे रोकने टोकने वाला कोई नहीं है। सुबह से ही अवैध शराब का खेल प्रारंभ हो जाता है जो देर रात तक जारी रहता है। नगर के थांदला रोड पर स्थित ,एक होटल पर खुलेआम अवैध रूप से शराब बेची जा रही है, बकायदा यहां पर ग्राहकों के बैठने शराब पिलाने के साथ ही मांसाहार भोजन की भी भरपूर व्यवस्था है । उक्त होटल सुबह से लेकर देर रात तक संचालित होती हैं जिस और किसी का ध्यान नहीं है। उक्त होटल पर पहुंचने वाल्रे ग्राहक सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों की धज्जियां उड़ा रहे हैं, साथ ही कोरोना बीमारी को भी न्योता देने का काम कर रहे हैं । शराब के नशे में धुत यहां आए, दिन शराबी विवाद करते भी नजर आ जाते हैं। सोमवार देर रात को भी यहां शराबियों में आपसी विवाद हो गया था तथा नोबत मारने मरने तक पहुँच गई।

बढ रहा अपराध.....

नगर के अंद्धरूनी मार्गो और मोहल्लों में बिक रहीं अवैध शराब के अलावा आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों करडावद, बामनिया, सारंगी, करवड़, रायपूरिया, टेमरिया, कोदली, उन्नई, बरवेट, जामली सहित गावं -गावं फलियें फलियें में अवैध रूप से शराब धडल्ले से बीक रहीं है और इस पुरे व्यवसाय में नोजवान पिढ़ी खुलेआम अपराध की राह पकड़कर इस धंधे के दलदल में फसती नजर आ रहीं है। वहीं शराब बेचने के साथ हीं शराब पीने वाले लोगो की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती हीं जा रहीं हे जो इस नशे की गर्त में डुबने के अलावा नशे की आदत और पुर्ति के लिए कई प्रकार के संगठीत औैर असंगठित अपराधों को करने से भी नहीं डर रहे है।


Post a Comment

Post Top Ad