Breaking

Thursday, June 18, 2020

तीन विभागों की अनदेखी, जनता अंधेरे में.... मेंटेनेस के नाम पर घण्टो रहीं बिजली गुल..... कहां सुधारे विघुत पोल, अब खुल रहीं पोल.....

तीन विभागों की अनदेखी, जनता अंधेरे में.... मेंटेनेस के नाम पर घण्टो रहीं बिजली गुल.....  कहां सुधारे विघुत पोल, अब खुल रहीं पोल.....

पेटलावाद से हरिश राठौड़ की रिपोर्ट

पेटलावद। बारीश का दोर अभी ठिक से शुरू नहीं हुआ है, बारिश के पूर्व तैयारी करते हुए बिजली विभाग के द्वारा मेनटेंस के नाम पर विघुत मण्डल पेटलावद द्वारा नगर और ग्रामीण अंचल की विघुत लाईटे घण्टो तक बंद रखी और पुछने पर मेनटेंस का हवाला देते हुए जमकर बिजली कटोती की लेकिन बिजली विभाग ने जो मेनटेंस किया उसकी पोल गत दिनों 1 घण्टे की बारिश ने हीं खोल दी।  थोड़ी सी हवा की लपटो में विघुत लाईन के तार या टुट कर निचे गीर जाते है या फिर लाईन फाल्ट हो जाती है जिसे सुधारने में विभाग के कर्मचारी घण्टों की मशक्कत के बाद विघुत सप्लाय सुचारू कर पाते है। इस तरह से विघुत विभाग के कर्मचारी मेनटेंनेस के नाम पर भारी गर्मी के बीच विघुत सप्लाय रोककर मात्र परेशान करने के अलावा कोई बड़ा सुधार का काम नहीं कर पायें यह सामने दिखाई दे रहीं है। इसके साथ हीं उपभोक्ताओ को इस माह भी भारी भरकम बील थमाकर विघुत विभाग उपभोक्ताओं से मात्र बील की वसुली और नहीं देने पर कनेक्शन विच्छेद करने की धमकी भी दी जाती है। 

स्ट्रीट लाईटे अक्सर रहती बंद.....

एक तरफ विघुत विभाग मेंटेनेस के नाम पर घण्टो लाईटे बंद करने के बावजुद भी कोई मेंटेनेस नहीं कर रहा है तो वहीं दुसरी और नगर के मुख्य मार्गो और विशेष रूप से जिस क्षेत्र में विघुत विभाग का कार्यालय रूपगढ़ रोड़ पर माहीं कॉलोनी में स्थित है तथा इस कॉलोनी में अधिकांश रहवासी सरकारी कर्मचारी अपने परिवार के साथ निवासरत है। वहीं इसी क्षेत्र में न्यायाधीशगणों के आवास, माहीं विभाग, एसडीओपी कार्यालय जैसे मुख्य कार्यालय स्थित है, इसी क्षेत्र में पिछले कई दिनों से स्ट्रीट लाईट काफी समय से बंद पडी है, उल्लेखनिय है कि इस क्षेत्र में शाम के समय कई लोग टहलने के लिए जाते है जिनमें अधिकांश महिलाएं व बच्चें भी मौजुद होते है। वहीं अंधेरे का फायदा उठाकर शातीर बदमाश कोई बड़ी दुर्घटना भी कर सकते है, तथा इस अंधेरे में चोर चोरी की वारदातों को अंजाम दे सकते है, लेकिन जब तक कोई घटना नहीं घटेगी तब तक जिम्मेदार अधिकारियों की आंखे नहीं खुलेगी। साथ हीं सरकारी सामान भी इस कॉलोनी में पड़ा है जिसकी भी चोरी हो सकती है। वहीं वर्तमान में बारिश का समय प्रारंभ हो चुका है जिसके चलते विशेले जीव जतुंआें का भय भी यहां के रहवासीयों को बना रहता है। इस पुरी समस्या का कारण विघुत विभाग, नगर परिषद, माहीं विभाग, बरडि़या पंचायत भी पूर्ण रूप से जिम्मेदार है, जिसका खामियाजा जनता भुगत रहीं है। 

विभागों में तालमेल की कमी.....

माहीं विभाग के बीएल पाड्या ने बताया कि माहीं विभाग को इन खंबो का मेंटेनेस और ट्युबलाईट व बल्फ आदि खरिदने के लिए प्रस्ताव बनाकर भेजा है लेकिन विभाग से फण्ड नहीं मिलने के कारण खरीदारी नहीं हो पाई है।

सीएमओं लालसिंह राठौर ने बताया कि आपसे जानकारी प्राप्त हुई है, जल्द हीं समस्या का हल किया जाएगा। 

इस पुरे मामले में विभागीय स्तर पर तालमेल की कमी से जनता परेशान होती नजर आ रहीं है, इस संबंध में विघुत मण्डल के मुख्य अभियंता जितेन्द्र वाघेला ने बताया कि रूपगढ़ रोड़ पर विघुत सप्लाय या फाल्ट को सुधारने की जिम्मेदारी विघुत मण्डल की है, लेकिन खंबों पर बल्प, टयुबलाईट आदि लगाने की जिम्मेदारी नगर परिषद की है। वहीं माहीं विभाग के कर्मचारियों का पुरा क्षेत्र बरडि़या पंचायत के अंतर्गत आता है नियम अनुसार पंचायत को विघुत कनेक्शन के लिए कार्यवाहीं करना चाहिए लेकिन इस संबंध में नगर परिषद और ग्राम पंचायत के द्वारा विघुत विभाग का कोई सहयोग नहीं किया जा रहा है। 



Post a Comment

Post Top Ad