Breaking

Monday, June 1, 2020

दिनभर की तपन के बाद अचानक हुई बारिष..... मण्डी में रखा क्विंटलों गेंहू हुआ गीला....






पेटलावद से हरिश राठौड़ की रिपोर्ट

पेटलावद। नौ तपा और रोहिणी की गर्मी में दिनभर चिल चिलाती धुप, 42 डिग्री से उपर तापमान, पसीने और गर्मी से बेहाल लोगो को सोमवार दोपहर पश्चात हुई लगभग आधे घण्टे की बारिष ने काफी राहत पहुंचाई और   पुरे वातावरण में ठंण्डक का माहोल छा गया। अचानक हुई बारिष से लोगो को गर्मी से जरूर राहत मिली लेकिन सारा जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया। नगर में कई जगहो ंपर गरीब लोगो द्वारा अपनी छतो पर पतरे तथा कवेलु बदलने का काम किया जा रहा है और अचानक हुई बारिष से इन लोगो को परेशानियों को सामना करना पडा। इसके अलावा नगर सहित आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में बारिश हुई।

भीगा गेंहू......

लगभग आधा घण्टा चली बारिष ने स्थानिय मण्डी प्रांगण में खुले आसमान में रखा क्विंटलों गेंहू पानी में गीला हो गया है। सरकारी प्रबंधों में कमी के चलते मण्डी में रखे गेंहू परिवहन की कमी के चलते गोदाम में नहीं भेज पायें, जिससे यहां रखें गेंहू जिम्मेदारों की लापरवाहीं की भेंट चढ़ गयें। गेंहू गिले होने से सरकार को काफी नुकसान हुआ है। प्राप्तजानकारी के अनुसार मण्डी प्रांगण में लगभग 14 हजार क्विटंल के आसपास गेंहू रखा हुआ है ,जिसमें से अधिंकाश गेंहू टीन शेड़ के निचे रखा है, और कुछ क्विंटल गेंहू पर सोसायटीयों के कर्मचारियों द्वारा पलियें बिछाकर सुरक्षित कर दियें थे  फिर भी अचानक हुई बारिष से जो गेंहू टीन शेड़ में जमा नहीं हो पायें थे उन पर पानी लगा है, और पानी का तेज बहाव होने के कारण गेंहू की बोरिया गीली हूई है।

इनका है कहना.....

आदिम जाती सेवा सहकारी संस्था के कमलेश ओझा और मांगीलाल पटेल ने बताया कि अचानक बारिष से गेंहू पर बुंदा बांदी हुई है। ज्यादा नुकसान नहीं हुआ है।


Post a Comment

Post Top Ad