Breaking

Saturday, June 6, 2020

न्यायालय परिसर में हुआ विधिक साक्षरता का आयोजन.... न्यायाधीशों ने वृक्षारोपण भी किया....



पेटलावद से हरिश राठौड़ की रिपोर्ट

पेटलावद। शुक्रवार 5 जुन विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर जिला एवं सत्र न्यायाधीश राजेश कुमार गुप्ता के निर्देश पर पेटलावद न्यायालय परिसर में विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन के साथ हीं वृक्षारोपण कार्यक्रम का आयोजन भी किया गया। पेटलावद अपर जिला जज एवं तालुका विधिक साक्षरता समिति के अध्यक्ष जेसी राठौर की अध्यक्षता में पेटलावद न्यायालय परिसर में विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया जिसमें न्यायाधीश संजिव कटारे व सुर्यपालसिंह राठौर के द्वारा न्यायालयिन कर्मचारियों को कोरोना वायरस कोविड-19 की बीमारी के संबंध में बचाव के उपाय एवं अन्य महत्वपूर्ण जानकारिया भी दी गई। शिविर को संबोधित करते हुए न्यायाधीश जेसी राठौर ने कहां कि केन्द्र व राज्य सरकारों सहित विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा जारी दिशा निर्देशों व सुरक्षा उपायों का पालन करते हुए तथा शोसल डिस्टेंसिंग के नियमों से काफी हद तक इस बीमारी से बचा जा सकता है।

पोधे लगायें......

विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर न्यायाधीशगणों ने न्यायालय परिसर में हरे वृक्ष के पोधे लगाकर पोधों को बड़ा करने का संकल्प भी लिया। उल्लेखनिय है कि पेटलावद न्यायालय परिसर में अभिभाषकों, जजों तथा न्यायालयीन कर्मचारियों के द्वारा हर वर्ष पोधारोपण कार्यक्रम आयोजित किया जाता है, और सभी की मेहनत से न्यायालय परिसर में कई पोधे वृक्ष का रूप में बडे हो चुके है जिनकी प्रतिदिन देखभाल की जाती है, किन्तु इस वर्ष कोरोना महामारी के चलते जजों व न्यायालयिन कर्मचारियों के द्वारा इस परंपरा को आगे बढ़ाया गया। इस अवसर पर आईटी प्रभारी हरिओम सोनी, नाजीर बाबुलाल बरमंडलिया, लिपीक हीरालाल मुणिया, शेलेश हीहोर, पवन पाटीदार, भरत मुणिया, रमेश बसोड़, राजेन्द्र भाबर, विजय वसुनिया, संजय शर्मा, सुनिल सिसौदिया, नीरज परते, संजय कुशवाह, शैतान बिलवाल सहित चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी माधव राठौड़, अशौक बसोड़, रामलाल यादव, शंकर बसोड़, किशनलाल गेहलोत, दितीया परमार, धुलसिंह डिंडोर, पार्वती परमार, अल्काबाई बसोड़ आदि कर्मचारीगण उपस्थित थे। कार्यक्रम में शोसल डिस्टेसिंग का पुरा पालन किया गया।


Post a Comment

Post Top Ad