Breaking

Thursday, July 2, 2020

महिला के साथ छेड़छाड़ करने वाले आरोपी की जमानत निरस्त.....

महिला के साथ छेड़छाड़ करने वाले आरोपी की जमानत निरस्त।  घटना इस प्रकार कि है कि पीडि़ता ने रिपोर्ट दर्ज करवाई की वह घटना दिनांक शाम को उसकी सास समरीबाई व ससुर बादरा खाना खाकर घर के बाहर सो रहे थे और उसका पति उसके नये घर पर चला गया था। पीडि़ता घर में उसकी एक वर्ष की लड़की अवंती को लेकर सो रही थी तभी रात करीब 11ः00 बजे उसका जेठ अल्पेष पिता बादरा कमरे में आया और एकदम से उसका बुरी नियत से उल्टा हाथ पकड़ कर खींचा व सीना दबाकर छेड़खानी करने लगा। वह चिल्लाई तो आरोपी जेठ अल्पेष वहां से भाग गया फिर बाद में पीडि़ता ने घटना की बात उसके ससुर बादरा व सास समरी को बताई व पति ननेस को जाकर घटना की बात बताई अगले दिन सुबह पीडि़ता अपने माता पिता के घर टिकड़ी मोती गई वहां पर घटना की बात उसकी मां मंगली व भाई राकेष को भी बताई व इन्हें साथ थाने पर जाकर रिपोर्ट दर्ज करवाई।  पुलिस थाना कोतवाली द्वारा दिनांक 30.06.2020 को आरोपी अल्पेष को गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय में पेष किया गया था, जहॉं से माननीय न्यायालय ने उक्त आरोपी  को जेल भेजा गया था। दिनांक 01.07.2020 को आरोपी की ओर से उसके अधिवक्ता द्वारा जमानत आवेदन प्रस्तुत किया गया था परन्तु अपराध की गंभीरता देखते हुए माननीय न्यायालय प्रथम वर्ग न्यायिक मजिस्ट्रेट (सुश्री प्रतिभा वास्केल सा.) द्वारा जमानत निरस्त की गई।  प्रकरण में शासन की ओर से श्रीमति मनीषा मुवेल, अभियोजन अधिकारी द्वारा पक्ष रखा गया।  उक्त जानकारी जिला मीडिया सेल प्रभारी सुश्री सूरज वैरागी, सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी, झाबुआ द्वारा दी गई।


पेटलावाद से हरिश राठौड़ की रिपोर्ट

घटना इस प्रकार कि है कि पीडि़ता ने रिपोर्ट दर्ज करवाई की वह घटना दिनांक शाम को उसकी सास समरीबाई व ससुर बादरा खाना खाकर घर के बाहर सो रहे थे और उसका पति उसके नये घर पर चला गया था। पीडि़ता घर में उसकी एक वर्ष की लड़की अवंती को लेकर सो रही थी तभी रात करीब 11ः00 बजे उसका जेठ अल्पेष पिता बादरा कमरे में आया और एकदम से उसका बुरी नियत से उल्टा हाथ पकड़ कर खींचा व सीना दबाकर छेड़खानी करने लगा। वह चिल्लाई तो आरोपी जेठ अल्पेष वहां से भाग गया फिर बाद में पीडि़ता ने घटना की बात उसके ससुर बादरा व सास समरी को बताई व पति ननेस को जाकर घटना की बात बताई अगले दिन सुबह पीडि़ता अपने माता पिता के घर टिकड़ी मोती गई वहां पर घटना की बात उसकी मां मंगली व भाई राकेष को भी बताई व इन्हें साथ थाने पर जाकर रिपोर्ट दर्ज करवाई।
पुलिस थाना कोतवाली द्वारा दिनांक 30.06.2020 को आरोपी अल्पेष को गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय में पेष किया गया था, जहॉं से माननीय न्यायालय ने उक्त आरोपी  को जेल भेजा गया था। दिनांक 01.07.2020 को आरोपी की ओर से उसके अधिवक्ता द्वारा जमानत आवेदन प्रस्तुत किया गया था परन्तु अपराध की गंभीरता देखते हुए माननीय न्यायालय प्रथम वर्ग न्यायिक मजिस्ट्रेट (सुश्री प्रतिभा वास्केल सा.) द्वारा जमानत निरस्त की गई।
प्रकरण में शासन की ओर से श्रीमति मनीषा मुवेल, अभियोजन अधिकारी द्वारा पक्ष रखा गया। उक्त जानकारी जिला मीडिया सेल प्रभारी सुश्री सूरज वैरागी, सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी, झाबुआ द्वारा दी गई।

Post a Comment